नफ़रतही शायद मोहब्बतमें बदल जायेगी.. नफ़रतही शायद मोहब्बतमें बदल जायेगी.. Reviewed by SpandanKavita on September 20, 2017 Rating: 5
कभी कभी ढूंडना पड़ता है . दोनोके बिच का रिश्ता कभी कभी ढूंडना पड़ता है .  दोनोके बिच का रिश्ता Reviewed by SpandanKavita on September 17, 2017 Rating: 5

क्या पता....कल हो ना हो

September 01, 2017
मेरी चाहतसे अब तुम इनकार मत कर.. क्या पता.... शायद मै इस दुनियामें ना रहुॕं..और तुझे प्यार का एहसास हो जाये....! 😭 @ सोनाली कुलकर...Read More
क्या पता....कल हो ना हो क्या पता....कल हो ना हो Reviewed by SpandanKavita on September 01, 2017 Rating: 5

Related Shayari

Powered by Blogger.