ये दिल्लगी है तुमसे ...


ये दिल्लगी है ,
तुमसे जो ख़त्मही नहीं होती है ..
दूर जाने का सोचु तो ,
ओरभी  पास लेकर आती है ..
@ सोनाली कुलकर्णी 


ये दिल्लगी है तुमसे ... ये दिल्लगी है तुमसे ... Reviewed by SpandanKavita on November 10, 2017 Rating: 5

Related Shayari

Powered by Blogger.